कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?

COMPUTER की फुल फॉर्म होती है Commonly Operated Machine Particularly Used for Technology Education and Research जिसे हिंदी में कॉमनली ऑपरेटिंग मशीन पर्टिकुलरली यूज़ड फॉर टेक्नोलॉजी एजुकेशन एंड रिसर्च लिखा जाता है।
कंप्यूटर (Computer) एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो की मुख्यतः चार उपकरणों से मिलकर बना है जैसे की डिस्प्ले (Display), माउस (Mouse), कीबोर्ड (Keyboard), मदर बोर्ड (Motherboard), और CPU. कंप्यूटर को आप कोई डाटा को Input की तरह दे सकते हैं उसके बाद उसी डाटा को CPU के जरिए प्रोसेस करके कंप्यूटर आपको एक Output देता है.
कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो सूचना, या डेटा को प्रोसेस करता है। इसमें डेटा को स्टोर करने, पुनर्प्राप्त करने और संसाधित करने की क्षमता है। आप पहले से ही जानते होंगे कि आप दस्तावेज़ लिखने, ईमेल भेजने, गेम खेलने और वेब ब्राउज़ करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं

 

कंप्यूटर के आविष्कार कौन है?

इंग्लिश गणितज्ञ और आविष्कारक चार्ल्स,बैबेज को प्रथम, मेकैनिकल कम्प्यूटर का आविष्कार करने के लिए जाना जाता है, जिससे अधिक जटिल इलेक्ट्रॉनिक डिजाइनों को बढ़ावा मिला। 1837 में उनके द्वारा आविष्कृत .

पहला कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ था?

1822 में, चार्ल्स बैबेज ने पहला मैकेनिकल कंप्यूटर बनाया, जिसे वास्तव में आज इस्तेमाल किए जाने वाले कंप्यूटर जैसा नहीं माना जाता था। इसलिए, नीचे दिया गया विवरण पहले कंप्यूटर के आविष्कार की व्याख्या करता है।

बेसिक कंप्यूटर स्किल्स सीखने में कितना समय लगता है?

जबकि विशेषज्ञ इस बात से सहमत हैं कि आपके कंप्यूटर विज्ञान की स्थिति में महारत हासिल करने में कुछ महीनों से लेकर कुछ वर्षों तक का समय लग सकता है, अधिकांश शुरुआती छह महीने या उससे कम समय में आवश्यक बुनियादी बातों को सीख सकते हैं।

कंप्यूटर का उपयोग क्या है? – Uses of Computer

वैसे तो कंप्यूटर का उपयोग आज जीवन के हर क्षेत्र में हैं ऐसा कोई क्षेत्र नहीं जिसमे Computer ka upyog न होता हो | मगर ये कुछ खास क्षेत्र है जहाँ कंप्यूटर का उपयोग काफी ज्यादा होता हैं |

  • घर में (Home)
  • बैंकिंग के क्षेत्र में (Banking)
  • शिक्षा के क्षेत्र में (Education)
  • स्वास्थ्य के क्षेत्र में(Health)
  • व्यापार के क्षेत्र में (Business)
  • सरकारी कामों में (Government)
  • विज्ञान और इंजीनियरिंग में (Science and Engineering)
  • चिकित्सा के क्षेत्र में (Medical field)
  • कला और मनोरंजन के क्षेत्र में (Arts and Entertainment)
  • मौसम की भविष्यवाणी में (Weather Forecasting)
  • रोबोटिक के क्षेत्र में (Robotics)”कृष्णा एकेडमी रीवा” एक शिक्षा संस्थान है जो कंप्यूटर की मूल जानकारी प्रदान करता है। यह संस्थान कंप्यूटर के मूल अवधारणाओं और तकनीकों को समझने में मदद करता है ताकि छात्र उन्हें बेहतरीन तरीके से समझ सकें और आवश्यक कौशल सीख सकें।कुछ मुख्य विषय शामिल हैं:
    1. कंप्यूटर के परिचय: इसमें कंप्यूटर का इतिहास, प्रकार, और उपयोग शामिल होते हैं।
    2. हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर: छात्रों को कंप्यूटर की हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर के बारे में समझाया जाता है।
    3. ऑपरेटिंग सिस्टम: इसमें ऑपरेटिंग सिस्टम की कार्यप्रणाली और प्रकारों की जानकारी होती है।
    4. बेसिक प्रोग्रामिंग: छात्रों को प्रोग्रामिंग की मूल जानकारी दी जाती है, जैसे कि प्रोग्राम कैसे लिखें और कैसे इसे चलाएं।
    5. इंटरनेट और डिजिटल ज्ञान: छात्रों को इंटरनेट के बारे में जानकारी और डिजिटल ज्ञान की प्राप्ति के तरीके सिखाए जाते हैं।
    6. बेसिक डेटा संरचना: इसमें डेटा को कैसे संरचित किया जाता है और उसका प्रबंधन कैसे किया जाता है, यह जानकारी होती है।

    “कृष्णा एकेडमी रीवा” का उद्देश्य छात्रों को कंप्यूटर जगत के मूल तत्वों के साथ परिचित कराना है ताकि वे आगामी तकनीकी शिक्षा में आगे बढ़ सकें। संस्थान छात्रों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आवश्यक कौशल प्रदान करता है जो आज की डिजिटल दुनिया में महत्वपूर्ण हैं।

ufabet